Saturday, November 28, 2015

जयपुर के खोले के हनुमान मंदिर में अन्नकुट महोत्सव आज

एक लाख से अधिक लोग जीमेंगे पंगत प्रसादी
जयपुर। दिल्ली रोड स्थित खोले के हनुमान मंदिर में 29 नवंबर (रविवार) को अन्नकुट महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। एक लाख से अधिक श्रद्धालु दोपहर से देर रात तक मौसमी अन्न से बने स्वादिष्ट देशी व्यंजन व सब्जियों का बिना जात-पात का भेद किए पंगत में बैठकर रसास्वादन करेंगे। दोपहर से शुरू होने वाले इस उत्सव में एक बार में हजारों की संख्या में लोग पंगत में बैठेंगे। अन्नकुट छोटी काशी का अनूठा उत्सव बनता जा रहा है, जिसमें छोटे-बड़े, अमीर-गरीब सभी श्रद्धा भाव से प्रसादी प्राप्त करते हैं। प्रसादी प्रारंभ होने से पहले खोले के हनुमान मंदिर परिसर में छप्पन भोग, अन्न व सब्जी की झांकी सजाई जाएगी। महोत्सव के दौरान नरवर आश्रम सेवा समिति ने विशेष रोशनी की व्यवस्था की है।

नरवर आश्रम सेवा समिति के अध्यक्ष गिरधारीलाल शर्मा ने बताया कि अन्नकुट में मूंग, चौला, बाजरा, चावल, गडमढ़ सब्जी, कढ़ी के साथ हलवा और झर के भुजिये की प्रसादी बनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि 55 वर्ष पूर्व मात्र 3 किलो अन्न के साथ खोले के हनुमान मंदिर में अन्नकुट उत्सव की शुरुआत हुई थी, जो पिछले कुछ वर्षों में लक्खी अन्नकुट में बदल गया है। भक्तों को प्रसाद पाने के लिए 1० खंडों में तथा आने-जाने के लिए अलग मार्ग की व्यवस्था की गई है।

फल-सब्जी की सजेंगी झांकियां

उत्सव के दौरान रविवार को खोले के हनुमान मंदिर में फल-सब्जी की झांकी, श्री आनन्देश्वर महादेव के अन्न की झांकी, सियारामजी महाराज के छप्पन भोग की झांकी, गणेशजी के लड्डुओं की झांकी, अन्नकूट स्थल पर अमरनाथ शिवालय की बर्फ की झांकी, परिसर में मौजूद अन्य देवालयों में विभिन्न प्रकार की झांकियां सजाई जाएंगी। इसके अलावा आसपास के क्षेत्र में 1०० मंदिरों में भी प्रसादी का भोग लगाया जाएगा। चौबेजी की प्रेरणा के अनुसार ही खोले के हनुमान मंदिर के पास स्थित हड्डीशाह बाबा की मजार पर भी छप्पन भोग व अन्नकुट की झांकी सजाई जाएगी।

होगा वेदमंत्रों का पाठ

समिति के महामंत्री बृजमोहन शर्मा ने बताया कि अन्नकुट समारोह के दौरान रविवार को भक्ति संगीत के विभिन्न कार्यक्रम होंगे। सियाराम मंदिर परिसर में सुबह 9 से 1० बजे तक वैदिक विद्बान वेदमंत्रों का पाठ करेंगे। 1० से दोपहर 1 बजे तक शिव सत्संग मंडल की ओर से हरिनाम संकीर्तन, सुबह 9 से 11 बजे तक खोले के हनुमान जी के सामने अवध बिहारी माथुर एवं उनके सहयोगी हनुमान चालीसा के सामूहिक पाठ करेंगे। सियाराम मंदिर परिसर में दोपहर 1 से 3 बजे तक जगदीश शर्मा एवं उनके सहयोगी तथा अपराह्न 3 से 5 बजे तक गुरुकृपा जागरण मंडल, शाम 5 से 7 बजे तक पी.आर. स्वामी और रात्रि 7 से 9 बजे तक मोहन बालोदिया एवं उनके सहयोगी भजन पेश करेंगे।

पारीक समाज का अन्नकुट महोत्सव आज

पारीक महासभा की ओर से 29 नवंबर (रविवार)  को सुबह 11 से शाम 4 बजे तक पुरानी बस्ती स्थित पंचायती मंदिर श्री गोपालजी में अन्नकुट महोत्सव आयोजित किया जाएगा। महासभा के सचिव लक्ष्मीकांत पारीक ने बताया कि इस अवसर पर सुंदरकांड के पाठ भी होंगे। सभी वर्ग के श्रद्धालु पंगत में बैठकर प्रसादी ग्रहण करेंगे।

No comments:

Post a Comment