Friday, December 14, 2012

विप्र महाकुंभ में शामिल होगा पवित्र कलश

महाकुंभ आयोजन समिति के सदस्य
सुनील मुद्गल ने पत्रकारों को दी जानकारी
जयपुर . देशभर में भ्रमण के पश्चात कलश यात्रा सीकर रोड के भवानी निकेतन में 16 दिसंबर को आयोजित होने वाले विप्र महाकुंभ में शामिल होगी। महाकुंभ आयोजन समिति के सदस्य सुनील मुद्गल ने शुक्रवार को मीडिया को बताया कि वर्ष 2009 में विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयोजक विजय ओझा ने सात पवित्र नदियों, सातों समुद्रों का जल एक पवित्र कलश में भरकर कल्पवृक्ष का बीज स्थापित किया। इस कलश के साथ फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं ने पूरे देश में भ्रमण किया। अब ये कलश राजस्थान में कोट पुतली, नीम का थाना, श्रीमाधोपुर, रींगस, सीकर, खंडेला, नवलगढ़, झुंझनू, चूरू, रतनगढ़, बीकानेर, नागौर, जोधपुर, सिरोही, उदयपुर, चित्तौडग़ढ़, भीलवाड़ा, ब्यावर, अजमेर, किशनगढ़ होकर जयपुर पहुंचेगा। यहां अजमेर रोड पर हीरापुरा स्थित गवर्नमेंट स्कूल में कलश का स्वागत किया जाएगा। ये कलश यहां से वैशालीनगर होकर विप्र महाकुंभ में शामिल होगा। उधर अखिल भारतीय हरियाणा गौड़ ब्राह्मण महासभा की ओर से विप्र महाकुंभ को समर्थन दिया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर लाल शर्मा ने मीडिया को बताया कि महाकुंभ में शामिल होने के लिए देशभर के हरियाणा गौड़ ब्राह्मण समाज के बंधुओं से अपील की गई है।

1 comment:

  1. महाकुंभ यानि महामेला हर मेले का बाप होता है यह यहां पढे महाकुंभ क्यूं कैसे और कब शुरू हुआ एक शानदार लेख है यह http://days.jagranjunction.com/2013/01/14/maha-kumbha-mela-2013-%E0%A4%AE%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%95%E0%A5%81%E0%A4%82%E0%A4%AD-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%B2%E0%A4%BE/

    ReplyDelete