Sunday, May 15, 2016

संगठित ब्राह्मण से ही सुरक्षित राष्ट्र का निर्माण सम्भव: शर्मा

अतिथियों का स्वागत करते विप्रबंधु।

ब्राह्मण जन-जागृति अभियान के पोस्टर का विमोचन, वेबसाइट लान्च

कोटपूतली। राजस्थान ब्राह्मण महासभा की स्थानीय इकाई द्वारा रविवार को श्री परशुराम मन्दिर में महर्षि जमदाग्नि कुमार भगवान परशुराम का जयन्ती महोत्सव 2016 धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सर्वप्रथम विद्वान पण्डितों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ परशुराम मन्दिर में भगवान परशुराम का अभिषेक व श्रृंगार किया गया। जिसके बाद कस्बा सहित आसपास के गांवों से आए हजारों की संख्या में विप्र बंधुओं की भीड़ शोभायात्रा में उमड़ पड़ी। शोभा यात्रा में सैकड़ों की संख्या में मोटरसाइकिल सवार समेत भगवान परशुराम का रथ व घोड़े आगे-आगे चल रहे थे। जिसके बाद विभिन्न प्रकार की लोक प्रस्तुतियां भी कलाकारों द्वारा दी गई। धूप व गर्मी के बावजूद भी हजारों की संख्या में विप्रबंधु घण्टों तक हर्षोल्लास के साथ शोभा यात्रा में डीजे की धुनों पर झूमते रहे। भगवान परशुराम की जय-जयकार के साथ शुरू हुई शोभायात्रा मुख्य चौराहे से नगरपालिका तिराहा, दिल्ली-दरवाजा, बड़ाबास मौहल्ला, बूचाहेड़ा व बाछड़ी होते हुए आजाद चौक से पुन: परशुराम मन्दिर पहुंचकर विसर्जित हुई। शोभा यात्रा में पूरा कोटपूतली कस्बा भगवा रंग में रंगा हुआ नजर आया। ब्राह्मण समाज की विभिन्न मोहल्ला कमेटियों द्वारा विप्रबंधुओं के जलपान की जगह-जगह व्यवस्था की गई थी। साथ ही दर्जनों जगह पर पुष्प वर्षा से शोभा यात्रा का स्वागत किया गया। वहीं महासभा के इकाई अध्यक्ष भास्कर शर्मा का भी स्वागत किया गया। इस दौरान भगवान परशुराम की आरती भी कस्बावासियों ने उतारी एवं प्रसादी का वितरण हुआ। शोभा यात्रा के परशुराम मन्दिर पहुंचने पर महासभा आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन गणेश वन्दना के साथ भगवान परशुराम की अध्यक्षता में ही शुरू हुआ। जिसे सम्बोधित करते हुए गौड़ ब्राह्मण महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष पूर्व आईपीएस नटवरलाल शर्मा ने कहा कि केवल एकजुट व संगठित ब्राह्मण ही सुरक्षित राष्ट्र का निर्माण कर सकता है। इसलिए भारतवर्ष की सुरक्षा व सम्प्रभुता एवं विकास को ध्यान में रखते हुए पूरे विप्र समाज को आपसी भेदभाव भुलाकर एकजुट होना होगा। शर्मा ने कहा कि वर्तमान में कई षड्यंत्र ब्रह्म समाज के खिलाफ चल रहे हैं। पदोन्नति में आरक्षण उनमें से एक है जो सिर्फ समाज की प्रतिभा को बाधित करने का तरीका है। शर्मा ने कहा कि विप्र समाज अपने व देश के भले के लिए अब एकजुट हो जाए। राजस्थान ब्राह्मण महासभा के कार्यकारी अध्यक्ष वैद्य हनुमान सहाय चोटिया ने संगठनात्मक गतिविधियों की जानकारी दी। वहीं महासभा के सभापति सुभाष पराशर, महासभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व प्रदेश कांग्रेस महासचिव एड. सुशील शर्मा एवं महासभा के जयपुर ग्रामीण जिलाध्यक्ष जगदीश नारायण शर्मा ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। आभार प्रकट करते हुए ईकाई अध्यक्ष भास्कर शर्मा ने कहा कि हमारी एकजुटता इस बात का प्रतीक है कि भगवान परशुराम का आशीर्वाद हम पर बना हुआ है। उन्होंने भविष्य में अक्षय तृतीया पर ही परशुराम जयन्ती मनाने की घोषणा की। साथ ही विप्र समाज के बेरोजगारों को रोजगार दिलाने, प्रतिभावान लेकिन गरीब छात्र-छात्राओं की शिक्षा सम्बंधित योजनाओं की जानकारी देते हुए आभार ज्ञापित किया। इस मौके पर राजस्थान ब्राह्मण महासभा के पदाधिकारियों द्वारा महासभा आपके द्वार कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए महासभा आपके द्वार जन जागृति अभियान के पोस्टर का विमोचन भी कस्बे में किया गया। साथ ही राजस्थान ब्राह्मण महासभा इकाई कोटपूतली की वेबसाईट को भी लान्च किया गया। तहसील अध्यक्ष पुरूषोत्तम शर्मा, प्रदेश प्रचार मंत्री श्यामसुन्दर शर्मा, सुरेश चन्द शर्मा, वैद्य नागेन्द्र शर्मा व गौड़ ब्राह्मण महासभा के जिलाध्यक्ष वेदप्रकाश शर्मा सहित अन्य ने आए हुए अतिथियों का मार्ल्यापण कर स्वागत किया। कार्यक्रम में समाज के प्रबुद्ध बुद्धि जीवियों, पदाधिकारियों व विप्रबंधुओं सहित अन्य को भगवान परशुराम का प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

No comments:

Post a Comment