Tuesday, September 14, 2010

राम मंदिर बनाने को आतुर है हिंदू समाज : परमानंद शर्मा

परमानंद शर्मा
दौसा. हनुमत शक्ति जागरण समिति के सह विभाग संयोजक परमानंद शर्मा ने कहा कि श्रीराम जन्म भूमि पर मंदिर का निर्माण करोड़ों हिंदुओं की आस्था का विषय है। यह तीर्थ राष्ट्रीय चेतना और पहचान का प्रतीक है। जन्मभूमि पर भव्य मंदिर बनाने के लिए हिंदू समाज आतुर है। सोमवार को आदर्श विद्या मंदिर में उन्होंने कहा कि प्रतीक्षा करते 17 वर्ष बीत गए और मुकदमा चलते 60 वर्ष हो गए। मुकदमा कितना लंबा और चलेगा यह कहा नहीं जा सकता। वार्तालाप भी निरर्थक सिद्ध हुआ है। अब केवल एक ही मार्ग बचा है कि संसद में कानून बनाकर भारत सरकार श्रीराम जन्मभूमि सम्मान पूर्वक हिंदू समाज को सौंप दे। उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1992 से आज तक प्रभु श्रीराम लला तंबू में विराजमान है। आज भी इसी स्थान पर पूजा हो रही है। वर्ष 1993 से मंदिर निर्माण में लगने वाले पत्थरों को अयोध्या, राजस्थान के पिंडवाड़ा व मकराना में तैयार किया गया है। भूतल के खंभों, रंग मंडप व गर्भगृह की चौखटों तथा 185 में से 150 बीम तैयार कर 60 प्रतिशत से अधिक कार्य पूर्ण किया जा चुका है। हमारा विश्वास है कि हनुमत शक्ति जागरण से ही श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। जिले में 16 अगस्त से प्रारंभ हुआ यह अभियान 34 खंडों के 131 मंडलों के 967 गांवों के प्रत्येक मंदिरों में चलेगा। कस्बे व नगरों की बड़ी बस्तियों के मंदिरों में हनुमान चालीसा के पाठ होंगे। उन्होंने कहा कि अभियान की सफलता के लिए जिला, प्रखंड व खंड स्तर पर श्री हनुमत शक्ति जागरण समिति का गठन किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment