Sunday, September 12, 2010

प्रथम पूज्य की अगुवानी में उमड़े छोटी काशी के लोग

मोती डूंगरी गणेश मंदिर के बाहर दर्शनों के लिए लगी कतारें.
मोती डूंगरी गणेश मंदिर में दर्शन करते लोग.
मोती डूंगरी गणेश मंदिर के बाहर दर्शनों के लिए लगी कतारें.
मोती डूंगरी गणेश मंदिर के बाहर दर्शनों के लिए लगी कतारें टोंक रोड तक पहुँच गई.
ब्रह्मपुरी में गढ़ गणेश मंदिर.
ब्रह्मपुरी में गढ़ गणेश मंदिर में दर्शन करते लोग.
ब्रह्मपुरी में गढ़ गणेश मंदिर में दर्शन के लिए लगी कतारें.
जयपुर. मोतीडूंगरी गणेशजी स्वर्णमंडित मुकुट और चांदी की धोती में आकर्षक मुद्रा में नजर आ रहे थे। इस अवसर पर महंत कैलाश शर्मा के सान्निध्य में विभिन्न झांकियों में मनोहारी पोशाकों के साथ आरती की गई। इसके अलावा लाल डूंगरी गणेश मंदिर, सिद्धि विनायक मंदिर, दिल्ली रोड के बंगाली बाबा आत्माराम ब्रह्मचारी गणेश मंदिर सहित शहरभर के मंदिरों में विभिन्न आयोजन हुए। इस दौरान मंदिरों में मेले सा माहौल रहा।
मोतीडूंगरी गणेश मंदिर में तड़के से ही भक्तों की लाइन लगी रही। प्रथम पूज्य की एक झलक देखने के लिए भक्त उत्साह के साथ आगे बढ़ते ही जा रहे थे। बारिश के कारण दोपहर 12 बजे तक भक्तों की संख्या कम थी। वहीं दोपहर बाद पासधारकों की लंबी लाइन नजर आई।
महेशनगर के अग्रसेन पार्क में गणेश चतुर्थी उत्सव समारोहपूर्वक मनाया गया। खिरणी फाटक के गणेश धाम में मंदिर प्रांगण वैदिक मंत्रोच्चार से गूंज उठा।
यहां विशेष पूजा
गढग़णेश मंदिर में गणेशजी का विशेष पूजन किया गया। महंत प्रदीप औदिच्य के सान्निध्य में भगवान का अभिषेक किया गया व मोदक अर्पित किए गए। तड़के से ही मंदिर में दर्शनों के लिए भक्तों की लंबी कतार नजर आई। ब्रह्मपुरी में नहर के गणेश मंदिर में गणेशजी आरीतारी, जरदोजी व गोटी की शाही पोशाक में नजर आए। इस मौके पर महाआरती की गई। आरती के बाद अष्टोत्तरशत नामावली पाठों से दूर्वांकुर अर्पित किए गए।
शोभायात्रा आज
गणपति महोत्सव समिति की ओर से मोतीडूंगरी गणेश मंदिर से आतिशी नजारों के साथ शोभायात्रा निकाली जाएगी। यात्रा में मुख्य आकर्षण 28 फुट लंबे 11 फुट चौड़े रथ पर पृथ्वी को घुमाते 18 फुट ऊंचे गणेशजी की स्वचालित झांकी होगी। शोभायात्रा दोपहर 3 बजे ध्वजपूजन के बाद रवाना होगी। हाथी, घोड़े, ऊंट, बग्घी के साथ निकलने वाली यात्रा में प्रमुख बैंडबाजों के वादन पूरे वातावरण को गणपति जन्मोत्सव से सराबोर करेंगे।
यूं चलेगा ट्रैफिक
गणेशजी की शोभायात्रा के अवसर पर यातायात पुलिस ने ट्रैफिक की विशेष व्यवस्था की है। शोभायात्रा रविवार को मोती डूंगरी गणेश मंदिर से रवाना होकर धर्मसिंह चौराहा, मोती डूंगरी रोड, सांगानेरी गेट, जौहरी बाजार, बड़ी चौपड़, छोटी चौपड़, गणगौरी बाजार, बह्मपुरी बस स्टैंड होती हुई गढ़ गणेश मंदिर ब्रह्मपुरी पहुंचेगी। यातायात की व्यवस्था रविवार दोपहर दो बजे से शोभायात्रा संपन्न होने तक रहेगी।
यातायात पुलिस अधीक्षक डॉ. विजेन्द्र झाला ने बताया कि दोपहर दो बजे से गोविन्द मार्ग, मोती डूंगरी रोड, घाटगेट से मिनर्वा सर्किल, रामगंज से चांदपोल, सांगानेरी गेट से ब्रह्मपुरी बस स्टैंड, रामनिवास बाग चौराहा से त्रिपोलिया, अजमेरी गेट से ब्रह्मपुरी गढ़ गणेश मंदिर तक रामगढ़ मोड़ से पुराना बाईपास, ब्रह्मपुरी, संजय सर्किल से सरोज सिनेमा होकर बाईपास रोड ब्रह्मपुरी पर सभी प्रकार के भारी वाहनों का प्रवेश निषेध रहेगा।
दिल्ली से आगरा की ओर आने-जाने वाली बसें ट्रांसपोर्ट नगर चौराहा से  गोविन्द मार्ग, विजय पथ, जेडीए सर्किल, झंडा सर्किल, गांधी नगर मोड़, लक्ष्मी मंदिर तिराहा, सहकार मार्ग, 22 गोदाम सर्किल, राजमहल टी प्वाइंट, गवर्नमेंट हॉस्टल होकर सिंधी कैंप आ-जा सकेंगी।
शोभायात्रा का पिछला हिस्सा धर्मसिंह सर्किल चौराहे से मोती डूंगरी रोड पर प्रवेश करने के बाद गोविन्द मार्ग, पुलिस मेमोरियल की तरफ से यातायात चल सकेगा। इसी तरह से शोभायात्रा के मार्ग पर गणेश मंदिर से मिनर्वा सर्किल, सांगानेरी गेट, सांगानेरी गेट से बड़ी चौपड़, त्रिपोलिया, छोटी चौपड़ से गढ़ गणेश मंदिर ब्रह्मपुरी तक किसी भी प्रकार के वाहनों की पार्किंग नहीं हो सकेगी। यह व्यवस्था सुबह आठ बजे से लागू रहेगी। शोभायात्रा के प्रमुख बाजारों में पहुंचने से 15 मिनट पहले ही इन बाजारों में बारी-बारी से सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर नियंत्रण किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment