Wednesday, August 04, 2010

स्वामी लक्ष्मीराम शोध संस्थान का वार्षिक अधिवेशन

जयपुर. स्वामी लक्ष्मीराम पीठ की ओर से मंगलवार को मोतीडूंगरी रोड पर स्वामी लक्ष्मीराम बाग में आयुर्वेद मार्तंड स्वामी लक्ष्मीराम का 71वां निर्वाण दिवस, श्रद्धांजलि समारोह व स्वामी लक्ष्मीराम शोध संस्थान का वार्षिक अधिवेशन हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि देवस्थान मंत्री बृजकिशोर शर्मा सहित अनेक गणमान्यजनों ने स्वामी लक्ष्मीराम को श्रद्धांजलि अर्पित की। शर्मा ने कहा कि वर्तमान में आयुर्वेद के मूल स्वरूप को बनाना जरूरी है। इसके लिए शोध की आवश्यकता है। वहीं आयुर्वेद विभाग को स्वयं ही जड़ी-बूटियां विकसित करनी होंगी। अधिवेशन के तहत राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के पूर्व निदेशक प्रो.महेश शर्मा और राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के पंचकर्म विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. राधेश्याम शर्मा को शॉल, साफा व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। समारोह की अध्यक्षता गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.मेधावी लाल शर्मा ने की। इस मौके पर समिति के सचिव वैद्य हरिनारायण स्वामी सहित अनेक गणमान्यजन उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment