Tuesday, February 23, 2010

विकलांगता अभिशाप नहीं


सोनाली पब्लिक स्कूल सोसायटी द्वारा केशव शास्त्री स्कूल में आयोजित विकलांगता जागृति शिविर को संबोधित करते ओलम्पिक भारत के राष्ट्रीय प्रशिक्षक प्रभाकर शर्मा।

मंडावर. ओलम्पिक भारत के राष्ट्रीय प्रशिक्षक प्रभाकर शर्मा ने कहा कि विकलांगता कोई अभिशाप नहीं है बल्कि जन्मजात स्थिति है। इसलिए विकलांगों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जाना आवश्यक है। यह बात उन्होंने केशव शास्त्री स्कूल में सोनाली पब्लिक स्कूल सोसायटी द्वारा आयोजित विकलांगता जागृति शिविर में कही। उन्होंने कहा कि विकलांग व्यक्ति भी समाज का एक अभिन्न अंग है। इसके मुख्य धारा में जोडऩे में प्रमुख समस्या अशिक्षा, जागरूकता का अभाव, माता-पिता व समाज की उदासीनता है।  इस दौरान उन्होंने विकलांगों के हितों के लिए सरकारी योजनाओं, पेंशन, विश्वास, आस्था कार्ड के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कल्याणसहाय शर्मा, विशिष्ठï अतिथि महेश मीणा, हरिप्रकाश शर्मा, अरूण शर्मा, धमेंद्र दीक्षित, अनिल मिश्रा, रमेशचंद, महेशचंद आदि मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment